Posts

Showing posts from July, 2016

याद कुछ यूँ करना की लबों पे मुस्कान ला सकूँ...................

Image
याद कुछ यूँ  करना की लबों पे
मुस्कान ला सकूँ

फ़रियाद कुछ यूँ करना की
अधूरे सपने सजा सकूं

तड़पा हूँ हर रोज़ तेरी याद मैं
काश फिर से तुझे पा सकूँ

खता थी मेरी जो  दूर गया तुझसे
पलट जाए वक़्त कुछ ऐसे की अपनी गलतियां सुधार सकूँ

सोचा ना था की ऐसा भी मंज़र आएगा
तू मुझसे यूँ खफा हो जायेगा

एक मौका  और  दे
तेरी ज़िन्दगी फिर फूलों  सी सजा सकूँ

तुझे देख के फिर से मुस्कुरा सकूँ!!!!!!!
तेरे लबों पे मुस्कान ला सकूँ!!!!!!!!!!!




एक बेखुद सपना याद तेरी दिला गया

Image
एक बेखुद सपना याद तेरी दिला  गया
भुला हुआ तेरा चेहरा फिर मुझे रुला गया गया!!!!!

तुझपे भरोसा था खुद से ज़्यादा
प्यार था दुनियां मैं सबसे ज़्यादा !!!

टूट कर खड़े होना तू सिखा गया
प्यार भरे दिल मैं नफरत का दिया जला गया !!


कैसे कोई इतना बदल जाता है!!!!!!

Image
कैसे  कोई इतना बदल जाता है
एक पल मैं यूँ  तनहा तनहा कर जाता है 
वादे तो बड़े किये थे  साथ चलाएंगे कश्ती समुन्दर की लहरों मैं 
 कैसे कोई  इतनी आसानी से वादों को झुटला जाता है 
मेरी जान कह के जो रोज़ मुझे जगाता  था  आज हर रात वही रुला जाता है 
गुज़रा हुआ हर लम्हा याद उसकी दिलाता है  वो बेखबर अपनी ही धुन मैं चला जाता है 
अंजान है वो मुझसे कुछ ऐसे जैसे  हमारा कोई नाता ही ना हो 
ये सोच के वक़्त क्यों थम सा जाता है 
कैसे कोई इतना बदल जाता है !!!!

काश फिर लौटा दे कोई वो बचपन की कश्तियाँ, यारो के साथ की मस्तियाँ !!!!!

Image
बरसात  के साथ यादों का अफसाना  कुछ यूँ चला, हर नया पुराना रिश्ता दिल को छूने सा लगा !!
कुछ इस तरह ये बूँदें मुझे गद्गुदायीं   यारो क साथ बिताए हुए पल याद ले आईं 
वो शरारती शामें  वो चाय की चुस्कियां  वो बेफिक्री  वो सावन की लड़ियाँ 
वो शरारत करने पे पापा की सज़ाएं  वो बीमार होने पे माँ की थपकियाँ !! दीदी के साथ की हुई मस्तियाँ  साथ चलायी थी हमने कागज़ की कश्तियाँ !!
सीखी थी सखियों के साथ नयी अदाएं  ज़ुल्फ़ों मैं गुम होती  फ़िज़ाएं !!
फिर तय किया कुछ दोस्तों क साथ  नए शहर का सफर, पढ़ाई खत्म होने क बाद का नया मंज़र  इन ही बारिशों मैं घूमा था चप्पा चप्पा  हाथ पकड़ कर !!
आधी रात की बारिशें  वो मिटटी की खुशबुएं !!!
बिना सोये रात भर की थी बातें  एक दूसरे को हम कितना थे सताते 
वो साथ मिलके गाये हुए गाने  न जाने हमने बनाए थे कितने अफ़साने !!
बीते हुए सावन के पल कुछ इस तरह गुनगुनायें  जिनसे  तन्हाई मैं भी महफ़िल जम जाए !!
यारो की यारी, रिशतेदारों की रिश्तेदारी , माँ पापा का दुलार, दीदी का प्यार  कभी ये हँसा जाए कभी ये रुला जाए !!
काश  फिर से वो बीते हुए पल कोई लौटा जाए
उची इमारत की खिड़की से देखती हूँ जब …

Life is a open book full of blank pages, write your own story. Do not let anyone else take your pen....Paint your life with your colors :)

Image
Do not let anyone write on the blank pages of your life, only you are authorized to fill in the pages the way you like your life to be. Do not let anyone take the command of something that you own- it’s your life. Be an artist and paint the canvas with your experience, thrill, excitement and opportunities  
Consider everyday as a new beginning, a new opportunity. You have your ink/color and a new blank page every day, do not let it go blank, also do not allow anyone to complete the story of your life as they want. You create one for yourself. You may fall, you may fail some days but rise again with the new sun rise. Learn from your mistakes, try to rectify them and if you can’t rectify, count them in your experience.
We get to live only once and we are not just born to study, do our jobs, save money, get married, grow children and die. There is a lot more out there. Go out, breath in fresh air.. Make memories, hang out with friends, send your parents on a vacation with the money you have e…